The material on this site may not be reproduced, distributed, transmitted, cached or otherwise used, except with the prior written permission of digital. Copyright © 2021 Damoh Today

Advertisement

This Week's/Trending Posts

Hand-Picked/Curated Posts

Most Popular/Fun & Sports

Hand-Picked/Weekly News

The Most/Recent Articles

सीएम शिवराज की दमोह, नीमच SP को फटकार, अनूपपुर SP की पीठ थपथपाई जानें क्या मामला!

cm shivraj damoh sp
भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को मंत्रालय से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से प्रदेश के सभी संभागों के कमिश्नर, आईजी एवं जिलों के कलेक्टर, पुलिस अधीक्षकों और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर राज्य शासन द्वारा प्रारंभ किए गए विभिन्न अभियानों और विकास कार्यों की विस्तृत समीक्षा की। ख़राब परफॉरमेंस वाले अधिकारियों को फटकार मिली और जहाँ से अच्छे नतीजे आए उनकी सराहना की गई।


वहीं खराब परफॉर्मेंस वाले पुलिस अधीक्षकों पर भी मुख्यमंत्री का गुस्सा फूटा। गुंडों और अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई नहीं करने पर फटकार भी लगाई। रासुका में पीछे रहने पर दमोह एसपी को मुख्यमंत्री ने कांफ्रेंस में ही फटकारा। क्योंकि, अपराधियों को गिरफ्तार करने में देरी होने की शिकायत मिली थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप सिस्टम सुधारें, ऐसे काम नहीं चलेगा। दमोह की रैंकिंग प्रदेश में सबसे पीछे 52 वें नंबर पर है। नीमच एसपी से भी कहा गया कि तस्करों के विरुद्ध कार्रवाई धीमी क्यों है, आप क्या कर रहे है जिले में, सिस्टम स्लो क्यों है। लेकिन, अच्छा काम करने वाले अधिकारियों को मुख्यमंत्री ने सराहा भी। अनूपपुर एसपी की प्रशंसा करते हुए कहा गया कि सूदखोरों के खिलाफ अच्छी कार्रवाई की गई। जिले में सूदखोरों की कमर तोड़ी गई, जो एक सराहनीय काम है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि बड़े मामलों की मॉनिटरिंग कलेक्टर खुद करे। ‘सुराज’ का मतलब है कार्य गुणवत्तापूर्ण हों। जहाँ तक करप्शन की बात है, हमारी नीति जीरो टॉलरेंस की है। भ्रष्टाचार करने वालों को हम किसी कीमत पर नहीं छोड़ेंगे।

विश्वकर्मा पूजन दिवस पर शासकीय अवकाश घोषित किये जाने की मांग को लेकर सौंपा गया ज्ञापन

damoh vishwakarma samaj sangthan

दमोह। सोमवार के दिन विश्वकर्मा समाज संगठन मध्य प्रदेश विश्वकर्मा समाज प्रदेश अध्यक्ष के आह्वान पर कार्यालय कलेक्टर दमोह में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम ज्ञापन सौंपा गया।जिसमें जिला विश्वकर्मा समाज संगठन के पदाधिकारियों ने 17 सितंबर विश्वकर्मा पूजन दिवस पर शासकीय अवकाश घोषित किये जाने की मांग की है। 

जिला विश्वकर्मा समाज की मांग है स्वरूप कहना है की इस दिन सृष्टि के सृजनहार देव शिल्पी भगवान विश्वकर्मा का पूजन सम्पूर्ण देश मे विश्वकर्मा वंशज के अलावा अन्य समाज के द्वारा भी वृहद स्तर पर किया जाता है। और पूजन, अनुष्ठान , शोभायात्रा,मूर्ति स्थापना कर धार्मिक आयोजन किये जाते हैं भारतवर्ष में सभी लोग मशीनों, औजारों के अलावा कल कारखानों व यंत्रों का इसी दिन पूजन करते है। यही कारण है की 17 सितंबर विश्वकर्मा पूजन दिवस पर शासकीय अवकाश घोषित किया जाए।

damoh vishwakarma samaj sangthan

विश्वकर्मा समाज के द्वारा ज्ञापन सौपे जाने के दौरान वरिष्ठ जन,समाजसेवी प्रमोद विश्वकर्मा लालचंद विश्वकर्मा श्याम विश्वकर्मा वीरेन्द्र विश्वकर्मा अभिषेक विश्वकर्मा अजय विश्वकर्मा,पवन विश्वकर्मा, हिमांशु विश्वकर्मा,ओम विश्वकर्मा, अमित विश्वकर्मा,सौरभ विश्वकर्मा, राजेश विश्वकर्मा आदि के साथ बड़ी संख्या मै स्वजातीय बंधुओं की उपस्थिति रहे एवं अन्य सामाजिक पदाधिकारी उपस्थिति रही।

वर्षो से की जा रही मांग:

ज्ञापन पत्र में भगवान विश्वकर्मा का वेदों एवं हिन्दू पांचांग के माध्यम से अवतरण दिवस माघशुदी तिथि 13 शुक्ल पक्ष को मनाया जाता है,को भी एच्छिक अवकाश घोषित कोई जाने लेख किया है। इसके अलावा यह भी दर्शाया है कि विश्वकर्मा पूजन दिवस पर शासकीय अवकाश की मांग पूरे देश मे 15 करोड़ विश्वकर्मा वंशज व प्रायः सभी हिन्दू सम्प्रदाय के लोग अनेक वर्षों से करते चले आ रहे हैं। 

संगठन ने सरकारों से विशेष आग्रह करते हुये लेख किया है कि देश की इतनी बड़ी आबादी 10 करोड़ इंजीनियर्स,आविष्कारक,कला -कौशल के ज्ञाता ,अधिकारी- कर्मचारी एवं 50 करोड़ भारतीय संस्कृति व सनातन धर्म के अनुयायी 17 सितंबर को विशेष अनुष्ठान करते हैं। ऐसी स्थिति में देश की लगभग आधी आबादी की माँग को प्राथमिकता के आधार पर त्वरित स्वीकार किया जाये।

e-Shram Card Online Apply: जानिए कैसे बनेगा ई-श्रम कार्ड और क्या है इसके फायदे!

यहां ग्रामीण समुदाय के लिए एक अच्छी खबर है। संगठित श्रमिक एवं श्रमिक अब ई-श्रम पोर्टल (e-Shram portal) पर पंजीकरण कर ई-श्रम कार्ड के लिए आवेदन एवं डाउनलोड कर सकते हैं। श्रम और रोजगार मंत्रालय द्वारा शुरू किया गया ई-श्रम कार्ड ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करने वाले असंगठित श्रमिकों के लिए कई लाभ प्रदान करता है।

e-shram card online registration

केंद्र की मोदी सरकार ने असंगठित श्रमिकों के समग्र कल्याण के लिए एक राष्ट्रीय डेटाबेस ई-श्रम पोर्टल (national e-Shram portal) लॉन्च किया है। पोर्टल को आधार कार्ड (Aadhaar Card) से जोड़ा जाएगा और देश में 38 करोड़ से अधिक असंगठित श्रमिकों (यूडब्ल्यू) को एक पोर्टल के तहत पंजीकृत किया जाएगा। यदि आपने अभी तक पंजीकरण (Registration) नहीं कराया है या समस्याओं का सामना कर रहे हैं क्योंकि आप इस्तेमाल की गई शर्तों के बारे में स्पष्ट नहीं हैं तो आप यहां शब्दावली की जांच कर सकते हैं:

ई-श्रम (e-Shram) को लेकर श्रम मंत्रालय (Ministry of Labor) ने भी ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है, "आज ही http://eshram.gov.in पर रजिस्टर करें और अपना ई-श्रम कार्ड डाउनलोड करें। यह कार्ड पूरे देश में मान्य है।" ई-श्रम पोर्टल की पंजीकरण प्रक्रिया पूरी तरह से निःशुल्क है।

क्या है ई-श्रम कार्ड? 

भारत सरकार द्वारा श्रमिकों को एक नया ई-श्रम कार्ड (e-Shram Card) जारी किया जाएगा जिसमें यूनिक 12 अंको की संख्या होगी। कार्ड की पंजीकरण प्रक्रिया निशुल्क की जाएगी जिसके बाद ई-श्रम कार्ड जारी किया जाएगा, इस कार्ड की मान्यता देश में स्वीकार्य होगी। सभी वर्गों के श्रमिक अपने आधार नंबर, बैंक खाते के विवरण आदि की मदद से नए पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। इस बीच, ई श्रम पोर्टल पर पंजीकरण शुरू हो गया है और श्रम मंत्रालय ने एक राष्ट्रीय टोल-फ्री नंबर "14434" भी लॉन्च किया है, जो पंजीकरण प्रक्रिया के संबंध में श्रमिकों के सभी प्रश्नों को हल करने में मदद करेगा।

किन दस्तावेजों की पढ़ेगी आवश्यकता? 

ई-श्रम कार्ड ऑनलाइन आवेदन (e-Shram card online registration) और डाउनलोड के लिए ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करने के लिए असंगठित श्रमिकों को आधार संख्या, आधार से जुड़े सक्रिय मोबाइल नंबर और बैंक खाता डेटा की आवश्यकता होगी।

  • आयु सीमा 16 से 59 वर्ष होनी चाहिए। 
  • जन्मतिथि (10-09-1961 से 09-09-2005) तक होनी चाहिए।

जानें- कैसे पंजीकृत करें (how to apply e-shram portal)

  • ई-श्रम पोर्टल के आधिकारिक पेज https://www.eshram.gov.in/ पर जाएं.
  • फिर होमपेज पर, “ई-श्रम पर पंजीकरण” (e-Shram Registration) पर लिंक करें.
  • इसके बाद सेल्फ रजिस्ट्रेशन https://register.eshram.gov.in/#/user/self पर क्लिक करें.
  • Self Registration में आपको को अपना आधार लिंक मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद कैप्चा दर्ज करें और चुनें कि क्या वे कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) या कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) विकल्प के सदस्य हैं और Send OTP पर क्लिक करें.
  • इसके बाद पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करने के लिए बैंक खाता विवरण (Bank Details) आदि दर्ज करें और आगे की प्रक्रिया का पालन करें।

ई-श्रम कार्ड के क्या लाभ हैं? (Benefits of e-Shram Card)

  • ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करने के बाद, आपको एक ई-श्रम कार्ड प्राप्त होगा, जो पूरे देश में मान्य होगा।
  • प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई) असंगठित श्रमिकों को एक वर्ष के लिए दुर्घटना बीमा प्रदान करेगी।
  • आकस्मिक मृत्यु या स्थायी विकलांगता की स्थिति में, 2 लाख रुपये की राशि का भुगतान किया जाएगा।
  • अगर आप आंशिक रूप से अक्षम हैं, तो आपको 1 लाख रुपये मिलेंगे।
  • ई-श्रम मंच, विशेष रूप से, सामाजिक सुरक्षा लाभों को प्रसारित करेगा।

दंगल चैनल के नए शो “नथ” मे नज़र आएंगी दमोह की बेटी चाहत पांडे!

 

chahat pandey damoh

इंटरटेनमेंट डेस्क। दंगल टीवी हमेशा से दर्शको के लिये नये और दिलचस्प शो लेकर आता रहा है। इसी परंपरा को जारी रखते हुये दंगल टीवी समाज की एक और कुरीति को सामने लाने का प्रयास कर रहा है। शो का नाम है “नथ” जो महिला समस्या के रुप मे आज भी समाज मे मौजूद है। दंगल टीवी के इस शो के लिये चाहत पांडे को चुना गया है। इसी के साथ दर्शको को अरिजीत तनेजा भी मुख्य भूमिका मे दिखाई देंगे। वह शो मे चिकी नाम के भूमिका निभायेंगी। यह शो दंगल टीवी पर 23 अगस्त से रात 10 बजे प्रसारित किया जायेगा।

हाल ही मे नथ सीरियल का नया प्रोमो जारी किया गया जिसमे चाहत पांडे और अरिजीत तनेजा को मंदिर मे पूजा करते दिखाया गया है। उसी समय इस प्रथा से जुडी कुछ महिलाये आ जाती है जिसे अरिजीत तनेजा मंदिर आने से रोकने के लिये कहते है। तभी चाहत पांडे उन्हे ऎसा करने से रोकती है।

इस शो के निर्माता पहले भी बेहतरीन सीरियल के लिये जाने जाते है। उनके पहले के शो मे “गुड्डन तुमसे ना हो पायेगा, बेलन वाली बहू, अपना टाइम भी आएगा, एक आस्था शामिल है।

दमोह जिले से आती है चाहत:

आपको बता दें कि चाहत पांडेय दमोह ज़िले कि रहने वाली है। उन्होंने जबेरा के चंडी चौपरा गांव में प्राइमरी तक शिक्षा ग्रहण की। इसके बाद जबलपुर नाका पर आदर्श स्कूल में दसवीं तक पढ़ाई। इसके बाद जेपीबी स्कूल में 12 की। चाहत की मां भावना पांडे चंडी चौपरा गांव में ही टीचर हैं।

इन सीरियल में भी कर चुकी है काम:

टीवी एक्ट्रेस चाहत पांडेय टीवी कलाकार हैं। वह तेनालीराम, राधा कृष्ण, सावधान इंडिया और नागिन 2 जैसे बड़े टीवी सीरियल में काम कर चुकी है। कुछ महीनों पहले चाहत अपने साथी हीर चौपड़ा के साथ विवादों की वजह से भी सुर्खियों में रहीं थी।


Raksha Bandhan 2021: रक्षा बंधन पर 474 साल बाद बन रहा अद्भुत संयोग, जानें राखी बांधने का शुभ मुहूर्त!

raksha-bandhan-2021-shubh-muhurat

रक्षा बंधन 2021: भाई-बहन के प्यार का प्रतीक रक्षाबंधन का त्योहार इसबार सावन मास की पूर्णिमा को 22 अगस्त 2021 दिन रविवार को मनाया जाएगा। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार, इस साल की राखी बेहद ही शुभ अवसर पर आ रही है। इस साल पूर्णिमा पर धनिष्ठा नक्षत्र और शोभन योग बन रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि सालों बाद यह महासंयोग बन रहा है।474 साल बाद बन रहा दुर्लभ संयोग:


ज्योतिषशास्त्र के अनुसार, इस साल रक्षाबंधन पर दुर्लभ संयोग बन रहा है जो पहले 11 अगस्त 1547 को बना था। जब धनिष्ठा नक्षत्र में रक्षाबंधन का पावन त्योहार आया था। साथ ही उस दौरान एकसाथ ऐसी स्थिति में सूर्य, मंगल और बुध आए थे। उस समय शुक्र ग्रह मिथुन राशि में विराजमान थे। वहीं इस साल शुक्र कन्या राशि में विराजमान होंगे। ये जोनों राशियां ही बुध का स्वामित्व करने वाली है। ऐसे में इसे शुभ कहा जाएगा। इस बार पूरे 474 साल यह शुभ धनिष्ठा नक्षत्र संयोग बनेगा। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, यह शुभ संयोग भाई-बहन के लिए बेहद ही लाभकारी व फलदाई रहेगा। इसके अलावा किसी चीज की खरीदारी के लिए राजयोग भी शुभ रहेगा।


इसबार पर नहीं होगी भद्रा:


आपको बता दें कि भद्रा काल में राखी बांधना अशुभ माना जाता है। मगर इस साल राखी बांधने की अवधि करीब 12 घंटों की है। ऐसे में आप बहनें बिना किसी परेशानी के अपने भाइयों को राखी बांध सकती है।


बन रहा गजकेसरी योग:


इस बार कुंभ राशि में गुरु की चाल वक्री रहेगी और चंद्रमा भी वहां मौजूद रहेगा। ऐसे में यह शुभ संयोग होने से राखी का पर्व गजकेसरी योग में मनाया जाएगा। मान्यता है कि गजकेसरी योग में व्यक्ति को मनचाहा फल की प्राप्ति होती है। धन, संपत्ति, वाहन आदि सुख मिलते हैं। इसके साथ ही इस शुभ योग में राजसी व समाज में मान-सम्मान प्राप्त होता है। मगर जिन जातकों की कुंडली में बृहस्पति या चंद्रमा कमजोर होगा उन्हें इस योग का पूरा लाभ नहीं मिल पाता है।


ये है राखी बांधने का शुभ मुहूर्त:


भद्राकाल में राखी बांधना अशुभ माना जाता है। इसलिए राखी बांधने से पहले इस पर ध्यान देना चाहिए। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार, इस साल भद्रा नहीं है और इस बार राखी बांधने के लिए की शुभ अवधि 12 घंटे 13 मिनट तक है। वहीं भद्रकाल रक्षाबंधन के अगले दिन यानि 23 अगस्त की सुबह 05:34 मिनट से 06:12 मिनट तक है। राखी बांधने का शुभ समय 22 अगस्त 2021 की सुबह 05:50 से शाम 06:03 मिनट तक रहेगा।

जिले में 25-26 अगस्त को टीकाकरण महाअभियान सीएम शिवराज ने व्ही.सी.के माध्यम से जिला क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी को किया संबोधित!

damoh corona meeting

दमोह। प्रदेश के साथ ही जिले में भी 25-26 अगस्त को आयोजित होने वाले टीकाकरण महाअभियान की व्ही.सी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिलों के प्रभारी मंत्री, जिला पंचायत अध्यक्षों, विधायकगणों और जिला क्राइसिस मैनेमेंट के सदस्यों को संबोधित करते हुये सभी से इस अभियान में सक्रियता से भागीदारी की अपील की।

इस आयोजित व्हीसी में दमोह एनआईसी कक्ष में कलेक्टर एस.कृष्ण चैतन्य, पुलिस अधीक्षक डीआर तेनीवार, जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटैल, विधायक पीएल तंतुवाय, विधायक धर्मेन्द्र सिंह लोधी, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी, सांसद प्रतिनिधि नरेन्द्र बजाज, नगर पालिका पूर्व अध्यक्ष मालती असाटी, सीईओ जिला पंचायत अजय श्रीवास्तव, एडीशनल कलेक्टर नाथूराम गौड़, पूर्व मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी डॉ.आरके बजाज, सिविल सर्जन डॉ ममता तिमोरी, नगर पालिका अधिकारी निशिकांत शुक्ला सहित ब्लाक मेडिकल आफीसर और जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ रेक्शन अल्बर्ट मौजूद रहे।


दमोह लव जिहाद केस में आया नया मोड़ पुलिस ने दोस्त के साथ भोपाल से पकड़ा युवती ने कही ये बात?

damoh love jihad

दमोह। शहर के बजरिया वार्ड से एक हिन्दू युवती का अपहरण किए जाने का आरोप समुदाय विशेष के युवक पर हिंदु संगठनो ने लगाते हुए गुरूवार को जमकर विरोध प्रदर्शन किया था। मामला बढ़ता देख पुलिस के भी हाथ पांव फूल गए हिंदु संगठनो की चेतावनी के बाद  पुलिस ने अपने मुखबिर तंत्र और साइबर सेल की मदद से युवती को उसके  दोस्त के साथ भोपाल के इलाके से बरामद कर लिया है। वही मजिस्ट्रेट बयान के बाद युवती को परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है। 

युवती का सामने आया बयान?

हिंदु युवती ने अपने बयानों में स्वेच्छा से ''राजा खान" नामक युवक के साथ जाने की बात कही है, वहीं इस मामले में कोतवाली टीआई सतेंद्र सिंह ने बताया की भोपाल से युवती को बरामद करने के बाद साइबर सेल व अन्य सूत्रों के ज़रिए आखिरकार पुलिस के लंबे हाथ भोपाल पहुंचने के पहले उपरोक्त प्रेमी युगल तक पहुंच गए। मजिस्ट्रेट के समक्ष युवती के बयान दर्ज कराते हुए उसे परिजनों के सुपुर्द कर दिया है वही आरोपित युवक से पूछताछ जारी है।


दमोह में हिन्दू युवती का अपरहण हिन्दूवादी संगठनो ने लगाया "लवजिहाद" आरोप

hindi girl kidnapped in damoh
हिन्दू संगठनो सहित लोगों ने घंटाघर पर किया विरोध प्रदर्शन

दमोह। शहर के बजरिया वार्ड से एक युवती का अपहरण किए जाने का आरोप लगाते हुए गुरुवार घंटाघर पर भारी भीड़ जमा हो गई। जिसमें महिलाओं की संख्या ज्यादा थी। देखते ही देखते अचानक 5 रास्ते जाम कर दिए गए। पुलिस पर सूचना देने के बाद कार्रवाई न करने का आरोप लगाते हुए महिलाओं ने पुलिस अधिकारियों को चूडिय़ां पहनाने का असफल प्रयास किया।

हिन्दी अख़बार पत्रिका में छपी ख़बर के मुताबिक़ बजरिया वार्ड की युवती जो गर्ल्स कॉलेज में पढ़ती है। घर से ही सुबह 11 बजे निकली थी, जब शाम 4 बजे तक नहीं लौटी और घर से 3 लाख रुपए गायब हुए तो परिजनों को युवती के घर से भागने और इस मामले में संदेह एक समुदाय विशेष के युवा पर होने से कोतवाली पहुंचे। 

जहां पुलिस को युवा व युवती को पकडऩे के लिए तत्काल कार्रवाई करने की मांग करने लगे। कोतवाली पुलिस ने लड़के के पकड़े जाने की बात कही है, लेकिन लड़की के बारे में कुछ भी नहीं बताया। जब परिजनों को लगा कि पुलिस कार्रवाई नहीं करेगी तो रात्रि 8 बजे परिजन, जिसमें बड़ी संख्या महिलाओं और बच्चों की थी, वह सभी घंटाघर पहुंच गए। 

इसके बाद 5 रास्तों पर महिला और बच्चे बैठ गए जिससे रास्ते बंद हो गए। रास्ता जाम होने के बाद 15 मिनट बाद पुलिस पहुंची। इसके बाद सीएसपी अभिषेक तिवारी पहुंच गए। आक्रोशित परिजनों व हिंदूवादी संगठनों के लोगों को समझाइश देते हुए शीघ्र कार्रवाई करने की बात कहते रहे, लेकिन परिजन लड़की को सुपुर्द करने की मांग करते रहे।

महिला पुलिस ने चूड़ी पहनने से बचाया:

करीब एक घंटे तक चली गहमागहमी में पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी और प्रदर्शन के बाद एकाएक महिलाओं के हाथों में चूडिय़ां के डिब्बा नजर आने लगे। घंटाघर एक महिला ने पुरुष पुलिसकर्मी का हाथ पकड़ लिया। जिसे वह जबरदस्ती चूड़ी पहनाने लगी। इसी बीच महिला पुलिसकर्मी ढाल बनकर खड़ी हो गई। पुलिस पुरुष पुलिसकर्मी को चूड़ी पहनने से बचाया। इसके साथ ही अन्य महिलाओं ने भी पुलिस को चूडिय़ां पहनाने का प्रयास किया जो असफल रहा।

हिंदू संगठनों ने लगाया लव जिहाद का आरोप:

बजरंग दल के पवन रजक का आरोप था कि लड़की का अपहरण लव जिहाद के तहत किया गया है। पुलिस को पूरी सूचना दी गई लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की है। पुलिस ने कहा है कि वह लड़की को सुपुर्द कर देंगे, इसलिए पुलिस को 24 घंटे का वक्त दिया गया है, यदि लड़की सुपुर्द नहीं की गई तो रविवार को पूरा जिला बंद रखा जाएगा।

एएसपी ने खत्म कराया प्रदर्शन:

करीब 2 घंटे से चल रहे विरोध प्रदर्शन को एएसपी शिवकुमार सिंह ने खत्म कराया। उन्होंने परिजनों व हिंदू संगठनों से चर्चा करते हुए कहा कि वह शीघ्र ही लड़की को बरामद कर परिजनों के सुपुर्द करेंगे। साथ ही लड़के पर कार्रवाई भी करेंगे।